Sunday, November 1, 2009

सन् 1937 में छपा इकानॉमिक एटलास

स्कैन किये गये ये पेजेस हैं सन् 1937 में छपे इकानॉमिक एटलास के जो कि मेरे पिता जी स्व. श्री हरिप्रसाद अवधिया के विद्यार्थी जीवन काल की है।

(चित्रों को बड़ा कर के देखने के लिये उन पर क्लिक करें)


चलते-चलते

मास्टर जी क्लास में पढ़ा रहे थे।

उन्होंने कहा, "एक गधा"

बच्चे भी एक स्वर में बोले, "एक गधा"

मास्टर जी, "फिर एक गधा"

बच्चे, "फिर एक गधा"

मास्टर जी, "फिर मैं"

बच्चे, "फिर मैं"

मास्टर जी, "फिर देश"

बच्चे, "फिर देश"

प्रिंसिपल साहब देखने के लिये निकले थे कि सब ठीक चल रहा है या नहीं। उन्होंने क्लास का नजारा देखा। मास्टर साहब को अपने कार्यालय में बुला कर पूछा, "ये क्या कर रहे थे आप?"

मास्टर साहब ने कहा, "जनाब मैं तो बच्चों को ASSASSINATION की स्पेलिंग याद करवा रहा था।"

[एक गधा (ASS) फिर एक गधा (ASS) फिर मैं (I) फिर सारा देश (NATION)]

----------------------------------------------------

"संक्षिप्त वाल्मीकि रामायण" का अगला पोस्टः

दशरथ की अन्त्येष्टि - अयोध्याकाण्ड (22)

Post a Comment