Thursday, March 26, 2009

थोड़ा बहुत तो हिन्दी ब्लोग से अभी भी कमाया जा सकता है

जी हाँ, यदि आप चाहें तो अभी भी अपने हिन्दी ब्लोग से कुछ कमाई कर सकते हैं। डीजीएमप्रो.कॉम आपको ऐसे एफिलियेट प्रोग्राम्स प्रदान करता है जो कि सिर्फ भारत के लिये ही हैं। यह साइट हिन्दी वेबसाइट्स और ब्लोग्स को भी स्वीकार करती है और कमीशन की रकम का भुगतान भारतीय रुपयों में सिटी बैंक के चेक के माध्यम से करती है। देखें मेरे पिछले भुगतान का चेकः

तो इस साइट में जाकर आप मुफ्त रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं और वहाँ उपलब्ध किसी भी एफिलियेट प्रोग्राम को प्रमोट करने के लिये आवेदन कर सकते हैं। आपका आवेदन मंजूर हो जाने के बाद आप अपने हिन्दी ब्लोग के द्वारा अपने एफिलियेट उत्पाद को प्रमोट करके थोड़ा बहुत कमाई कर सकते हैं जैसे कि इस माह में अब तक मेरा वहाँ पर कमीशन रु.1620 बना हैः
वर्तमान में वहाँ पर निम्न एफिलियेट प्रोग्राम्स उपलब्ध हैं:



अलग अलग एफिलियेट प्रोग्राम्स में अलग अलग कमीशन रेट हैं जैसे कि यदि कोई आपके ब्लोग के बैनर को क्लिक कर के किसी ट्रैव्हल साइट यात्रा.कॉम, मेकमायट्रिप.कॉम, क्लियरट्रिप.कॉम आदि में पहुँचता है और फ्लाइट बुकिंग करता है तो आपको रु.85.00 से रु.130.00 तक का कमीशन मिल सकता है।

प्रमोट कैसे करें

सबसे सरल तरीका है एफिलियेट बैनर्स अपने ब्लोग में लगाना। पर अधिक प्रभावशाली तरीका है जिस कंपनी को आप प्रमोट कर रहे हैं उसके उत्पाद के विषय में विस्तारपूर्वक समझाते हुये तथा उनके गुण दोषों को बताते हुये एक लेख लिख कर अपने ब्लोग में प्रकाशित करना। उदाहरण के लिये नीचे का पैराग्राफ देखें:
अब वे दिन लद गये जबकि रेल्वे आरक्षण के लिये घंटों लाइन लगाये रहना पड़ता था। आज आप अपने घर में अपने कम्प्यूटर के सामने बैठ कर आनलाइन रेल्वे टिकिट बुकिंग कर सकते हैं। पहले रेल्वे टिकिट बुकिंग केवल आईआरसीटीसी इंडियन रेल्वे केटरिंग एण्ड टूरिज्म कार्पोरेशन, जो कि सरकारी साइट है, से ही हुआ करता था किन्तु अब यह कार्य क्लीयरटरिप, जो कि एक निजी ट्रैव्हल एजेंसी है और प्लेन टिकट बुकिंग, होटल बुकिंग, यात्रा वाहन बुकिंग का कार्य करती है, के साइट से भी कराया जा सकता है। जाहिर है कि प्रतिस्पर्धा हो जाने के कारण से अब सामान्य लोगों को और भी अधिक अच्छी सेवाएँ मिलेंगी।
पूरा लेख यहाँ देखें - भारत में रेल्वे रिजर्व्हेशन

अधिक कमीशन कैसे बनायें

देखा यह गया है कि किसी वेबसाइट या ब्लोग में आने वालों में से २५% लोग ही विज्ञापन को क्लिक करते हैं और उनमें से केवल एक प्रतिशत लोग खरीदी करते हैं। मतलब यह हुआ कि एक उत्पाद बेचने के लिये विज्ञापनों पर 100 क्लिक होना चाहिये और 100 क्लिक के लिये कम से कम 400 लोग आपके ब्लोग में आने चाहिये। तो आखिर यह कैसे हो? परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह हो सकता है। जी हाँ आपके ब्लोग में 400 लोग और उससे भी कई गुना अधिक लोग आ सकते हैं पर इसके लिये आपको कुछ मेहनत करनी होगी। एक बार आपको बहुत अधिक समय देना होगा और बाद में अपने प्रत्येक पोस्ट के बाद थोड़ा सा अतिरिक्त समय देना होगा।

एक बार अधिक समय खाने वाला काम है नीचे दिये गये सोशल बुकमार्किंग साइट्स की लिस्ट में से अधिक से अधिक साइट का मुफ्त सदस्य बनना

Propeller.com
Slashdot.org
Digg.com
Technorati.com
Del.icio.us
Stumbleupon.com
Twitter.com
Reddit.com
Tagza.com
Fark.com
Newsvine.com
Furl.net
swik.net
Connotea.org
Links Marker
Sphinn.com
Blinklist.com
Faves.com
Spurl.net
Netvouz.com
Diigo.com
Backflip.com
Bibsonomy.org
Folkd.com
Linkagogo.com
Indianpad.com
Plugim.com
Myjeeves.ask.com
Jumptags.com
Wirefan.com
Ka-Boom-It.com

प्रत्येक पोस्ट के बाद क्या करना होगा

सबसे पहले सोशलमार्कर.कॉम का मुफ्त सदस्य बनें और वहाँ पर उपलब्ध बटन को ड्रैग करके अपने ब्राउसर के बुकमार्क टूलबार में डाल दें। अब जब भी कोई पोस्ट करें तो उसके बाद उस पोस्ट को अपने ब्राउसर में खोलें और टूलबार में सोशलमार्कर वाले बटन को क्लिक कर दें। क्लिक करने पर सोशलमार्कर साइट एक नये ब्राउसर में खुलेगा जिसके सीधे हाथ के ऊपरी कोने में आपके पोस्ट का विवरण स्वतः ही आ जायेगा।
आप विवरण को अंग्रेजी में बदल दें।
अब आप विवरण के ऊपर सबमिट मेनू को क्लिक कर दें। सोशल मार्कर स्वतः ही आपके पोस्ट को सभी बुकमार्किंग साइट्स में बुकमार्क करता चला जायेगा।

कुछ दिनों तक ऐसा करने के बाद आप स्वयं देखेंगे कि एक ही महीने के भीतर आपके ब्लोग के पाठकों की संख्या कई गुना ज्यादा बढ़ गई है।

तो मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोग इस प्रयोग को कर के अवश्य देखेंगे।


पुनश्चः ज्ञानदत्त जी की शंका का समाधान अपनी टिप्पणी में कर चुका हूँ जो इस प्रकार हैः

इन विज्ञापनों से एडसेंस के किसी नियम का उल्लंघन नहीं होता। आप इन्हें बेझिझक एडसेंस के साथ प्रकाशित कर सकते हैं।
Post a Comment