Saturday, May 15, 2010

क्या अंग्रेजी और अन्य भाषाओं के ब्लोगर्स में भी कभी बड़े छोटे ब्लोगर्स का विवाद हुआ है?

हम गूगल कर-कर के थक गये यह जानने के लिये कि क्या अंग्रेजी और अन्य भाषाओं के ब्लोगर्स में भी कभी बड़े छोटे ब्लोगर्स का विवाद हुआ है? अनेक प्रकार से सर्च किया  कभी सर्च बॉक्स में history of blogging लिखकर, कभी who is big blogger लिखकर, तो कभी और भी इसी प्रकार के कीवर्ड्स लिखकर  किन्तु हमें हमारे प्रश्न का उत्तर नहीं मिल पाया।

इसका निष्कर्ष तो यही निकलता है कि अन्य भाषाओं के ब्लोगर्स बेवकूफ हैं जो यह तक नहीं बता सकते कि उनमें कौन बड़ा ब्लोगर है और कौन छोटा। उनकी बेवकूफी का एक और उदाहरण यह है कि वे टिप्पणियों की परवाह नहीं करते, उन्हें तो सिर्फ यही चिन्ता खाती है कि मैं ऐसा क्या लिखूँ कि उसे पढ़ने के लिये मेरे ब्लोग में लाखों करोड़ों की संख्या में पाठक आ जायें। है ना बेवकूफी? पाठकों की संख्या का भी भला कोई महत्व है? महत्व तो टिप्पणियों की संख्या का होता है, जितनी ज्यादा टिप्पणियाँ उतना ही बड़ा ब्लोगर!

इससे सिद्ध होता है कि विद्वान और महान तो हम हिन्दी के ब्लोगर्स ही हैं।
Post a Comment