Friday, January 14, 2011

महाभारत युद्ध के पश्चात् इन्द्रप्रस्थ के राजाओं की वंशावली

महाभारत युद्ध के पश्चात् राजा युधिष्ठिर की 30 पीढ़ियों ने 1770 वर्ष 11 माह 10 दिन तक राज्य किया जिसका विवरण नीचे दिया जा रहा हैः

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1राजा युधिष्ठिर (Raja Yudhisthir)36825
2राजा परीक्षित (Raja Parikshit)6000
3राजा जनमेजय (Raja Janmejay)84723
4अश्वमेध (Ashwamedh )82822
5द्वैतीयरम (Dwateeyram )8828
6क्षत्रमाल (Kshatramal)811127
7चित्ररथ (Chitrarath)75318
8दुष्टशैल्य (Dushtashailya)751024
9राजा उग्रसेन (Raja Ugrasain)78721
10राजा शूरसेन (Raja Shoorsain)78721
11भुवनपति (Bhuwanpati)6955
12रणजीत (Ranjeet)65104
13श्रक्षक (Shrakshak)6474
14सुखदेव (Sukhdev)62024
15नरहरिदेव (Narharidev)51102
16शुचिरथ (Suchirath)42112
17शूरसेन द्वितीय (Shoorsain II)58108
18पर्वतसेन (Parvatsain )55810
19मेधावी (Medhawi)521010
20सोनचीर (Soncheer)50821
21भीमदेव (Bheemdev)47920
22नरहिरदेव द्वितीय (Nraharidev II)451123
23पूरनमाल (Pooranmal)4487
24कर्दवी (Kardavi)44108
25अलामामिक (Alamamik)50118
26उदयपाल (Udaipal)3890
27दुवानमल (Duwanmal)401026
28दामात (Damaat)3200
29भीमपाल (Bheempal)5858
30क्षेमक (Kshemak)481121

क्षेमक के प्रधानमन्त्री विश्व ने क्षेमक का वध करके राज्य को अपने अधिकार में कर लिया और उसकी 14 पीढ़ियों ने 500 वर्ष 3 माह 17 दिन तक राज्य किया जिसका विरवरण नीचे दिया जा रहा है:

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1विश्व (Vishwa)17329
2पुरसेनी (Purseni)42821
3वीरसेनी (Veerseni)52107
4अंगशायी (Anangshayi)47823
5हरिजित (Harijit)35917
6परमसेनी (Paramseni)44223
7सुखपाताल (Sukhpatal)30221
8काद्रुत (Kadrut)42924
9सज्ज (Sajj)32214
10आम्रचूड़ (Amarchud)27316
11अमिपाल (Amipal)221125
12दशरथ (Dashrath)25412
13वीरसाल (Veersaal)31811
14वीरसालसेन (Veersaalsen)47014

वीरसालसेन के प्रधानमन्त्री वीरमाह ने वीरसालसेन का वध करके राज्य को अपने अधिकार में कर लिया और उसकी 16 पीढ़ियों ने 445 वर्ष 5 माह 3 दिन तक राज्य किया जिसका विरवरण नीचे दिया जा रहा है:

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1राजा वीरमाह (Raja Veermaha)35108
2अजितसिंह (Ajitsingh)27719
3सर्वदत्त (Sarvadatta)28310
4भुवनपति (Bhuwanpati)15410
5वीरसेन (Veersen)21213
6महिपाल (Mahipal)4087
7शत्रुशाल (Shatrushaal)2643
8संघराज (Sanghraj)17210
9तेजपाल (Tejpal)281110
10मानिकचंद (Manikchand)37721
11कामसेनी (Kamseni)42510
12शत्रुमर्दन (Shatrumardan)81113
13जीवनलोक (Jeevanlok)28917
14हरिराव (Harirao)261029
15वीरसेन द्वितीय (Veersen II)35220
16आदित्यकेतु (Adityaketu)231113

प्रयाग के राजा धनधर ने आदित्यकेतु का वध करके उसके राज्य को अपने अधिकार में कर लिया और उसकी 9 पीढ़ी ने 374 वर्ष 11 माह 26 दिन तक राज्य किया जिसका विरवरण नीचे दिया जा रहा है:


क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1राजा धनधर (Raja Dhandhar)231113
2महर्षि (Maharshi)41229
3संरछि (Sanrachhi)501019
4महायुध (Mahayudha)3038
5दुर्नाथ (Durnath)28525
6जीवनराज (Jeevanraj)4525
7रुद्रसेन (Rudrasen)47428
8आरिलक (Aarilak)52108
9राजपाल (Rajpal)3600

सामन्त महानपाल ने राजपाल का वध करके 14 वर्ष तक राज्य किया। अवन्तिका (वर्तमान उज्जैन) के विक्रमादित्य ने महानपाल का वध करके 93 वर्ष तक राज्य किया। विक्रमादित्य का वध समुद्रपाल ने किया और उसकी 16 पीढ़ियों ने 372 वर्ष 4 माह 27 दिन तक राज्य किया जिसका विवरण नीचे दिया जा रहा है:

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1समुद्रपाल (Samudrapal)54220
2चन्द्रपाल (Chandrapal)3654
3सहपाल (Sahaypal)11411
4देवपाल (Devpal)27128
5नरसिंहपाल (Narsighpal)18020
6सामपाल (Sampal)27117
7रघुपाल (Raghupal)22325
8गोविन्दपाल (Govindpal)27117
9अमृतपाल (Amratpal)361013
10बालिपाल (Balipal)12527
11महिपाल (Mahipal)1384
12हरिपाल (Haripal)1484
13सीसपाल (Seespal)111013
14मदनपाल (Madanpal)171019
15कर्मपाल (Karmpal)1622
16विक्रमपाल (Vikrampal)241113

टीपः कुछ ग्रंथों में सीसपाल के स्थान पर भीमपाल का उल्लेख मिलता है, सम्भव है कि उसके दो नाम रहे हों।

विक्रमपाल ने पश्चिम में स्थित राजा मालकचन्द बोहरा के राज्य पर आक्रमण कर दिया जिसमे मालकचन्द बोहरा की विजय हुई और विक्रमपाल मारा गया। मालकचन्द बोहरा की 10 पीढ़ियों ने 191 वर्ष 1 माह 16 दिन तक राज्य किया जिसका विवरण नीचे दिया जा रहा है:

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1मालकचन्द (Malukhchand)54210
2विक्रमचन्द (Vikramchand)12712
3मानकचन्द (Manakchand)1005
4रामचन्द (Ramchand)13118
5हरिचंद (Harichand)14924
6कल्याणचन्द (Kalyanchand)1054
7भीमचन्द (Bhimchand)1629
8लोवचन्द (Lovchand)26322
9गोविन्दचन्द (Govindchand)31712
10रानी पद्मावती (Rani Padmavati)100

रानी पद्मावती गोविन्दचन्द की पत्नी थीं। कोई सन्तान न होने के कारण पद्मावती ने हरिप्रेम वैरागी को सिंहासनारूढ़ किया जिसकी पीढ़ियों ने 50 वर्ष 0 माह 12 दिन तक राज्य किया जिसका विवरण नीचे दिया जा रहा है:

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1हरिप्रेम (Hariprem)7516
2गोविन्दप्रेम (Govindprem)20 28
3गोपालप्रेम (Gopalprem)15728
4महाबाहु (Mahabahu)6829

महाबाहु ने सन्यास ले लिए। इस पर बंगाल के अधिसेन ने उसके राज्य पर आक्रमण कर अधिकार जमा लिया। अधिसेन की 12 पीढ़ियों ने 152 वर्ष 11 माह 2 दिन तक राज्य किया जिसका विवरण नीचे दिया जा रहा है:

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1अधिसेन (Adhisen)18521
2विल्वसेन (Vilavalsen)1242
3केशवसेन (Keshavsen)15712
4माधवसेन (Madhavsen)1242
5मयूरसेन (Mayursen)201127
6भीमसेन (Bhimsen)5109
7कल्याणसेन (Kalyansen)4821
8हरिसेन (Harisen)12025
9क्षेमसेन (Kshemsen)81115
10नारायणसेन (Narayansen)2229
11लक्ष्मीसेन (Lakshmisen)26100
12दामोदरसेन (Damodarsen)11519

दामोदरसेन ने उमराव दीपसिंह को प्रताड़ित किया तो दीपसिंह ने सेना की सहायता से दामोदरसेन का वध करके राज्य पर अधिकार कर लिया तथा उसकी 6 पीढ़ियों ने 107 वर्ष 6 माह 22 दिन तक राज्य किया जिसका विवरण नीचे दिया जा रहा है:

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1दीपसिंह (Deepsingh)17126
2राजसिंह (Rajsingh)1450
3रणसिंह (Ransingh)9811
4नरसिंह (Narsingh)45015
5हरिसिंह (Harisingh)13229
6जीवनसिंह (Jeevansingh)801

पृथ्वीराज चौहान ने जीवनसिंह पर आक्रमण करके तथा उसका वध करके राज्य पर अधिकार प्राप्त कर लिया। पृथ्वीराज चौहान की 5 पीढ़ियों ने 86 वर्ष 0 माह 20 दिन तक राज्य किया जिसका विवरण नीचे दिया जा रहा है:

क्र.शासक का नामवर्षमाहदिन
1पृथ्वीराज (Prathviraj)12219
2अभयपाल (Abhayapal)14517
3दुर्जनपाल (Durjanpal)11414
4उदयपाल (Udayapal)1173
5यशपाल (Yashpal)36427

विक्रम संवत 1249 (1193 AD) में मोहम्मद गोरी ने यशपाल पर आक्रमण कर उसे प्रयाग के कारागार में डाल दिया और उसके राज्य को अधिकार में ले लिया।

उपरोक्त जानकारी http://www.hindunet.org/ से साभार ली गई है जहाँ पर इस जानकारी का स्रोत स्वामी दयानन्द सरस्वती के सत्यार्थ प्रकाश ग्रंथ, चित्तौड़गढ़ राजस्थान से प्रकाशित पत्रिका हरिशचन्द्रिका और मोहनचन्द्रिका के विक्रम संवत1939 के अंक और कुछ अन्य संस्कृत ग्रंथों को बताया गया है।
Post a Comment