Tuesday, February 16, 2010

आज नहीं दे पायेंगे आपका साथ ... परघानी है हमें प्यारी भांजी की बारात

आज हम न आपके पोस्ट पढ़ पायेंगे और न ही टिप्पणी कर पायेंगे। लाडली भांजी के विवाहोत्सव की व्यस्तता हमें इजाजत ही नहीं देगी इन सब के लिये। सोचा था कि आज कम्प्यूटर खोलेंगे ही नहीं पर याद आया कि आप लोगों को तो अब तक निमन्त्रण भेजा ही नहीं है हमने। इसलिये इस पोस्ट के माध्यम से आप लोगों को निमन्त्रण दे ही देते हैं। दुल्हा-दुल्हन को आप लोगों का आशीर्वाद से अभिभूत करने के लिये!

Post a Comment